Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

Home

Citizen Charter

मंडल

विभाग

निविदाएँ

समाचार एवं अद्यतन

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
खड़गपुर कारखाना

 



कारखाना के बारे में

खड़गपुर कारखाना बंगाल नागपुर रेलवे के एक छोटे से मरम्मत कारखाना के रूप में 1898 में स्थापित किया गया था । खड़गपुर वर्कशॉप आज विकसित होकर भारतीय रेलवे की सबसे बड़ी रखरखाव कारखाने के रुप में उभरा है । यह भारतीय रेल का एक अनूठा कारखाना है जिसमें सभी प्रकार के बड़े गेज वाले रोलिंग स्टाॅक यथा कोच, ईएमयू, एम ई एम यू, डी ई एम यू, सेल्फ प्रोपेल्ड दुर्घटना राहत ट्रेन, सेल्फ प्रोपेल्ड दुर्घटना राहत चिकित्सा उपकरण वान, टॉवर कारें, डीजल इंजनों, विद्युत इंजन, डीजल क्रेन और वैगन इत्यादि की संपूर्ण मरम्मत की जाती है

                                     

कारखाना   रोलिंग स्टॉक उपकरणों और पुर्जों की एक बड़ी संख्या में  निर्माण भी करती है। इसके अलावा डीजल आवधिक मरम्मत कर्मशाला में ट्रैक्सन मशीनों की री-वाइंडिंग के साथ-साथ काॅयल निर्माण कार्य की सुविधाएं हैं।  इस कार्यशाला से जुड़ी पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केन्द्र में डीजल लोकोमोटिव चालकों के प्रशिक्षण के लिए एक सिम्युलेटर की व्यवस्था है। 


अपने अतीत की उपलब्धियों और गौरवशाली विरासत की ताकत के आधार पर, कारखाना  नई सहस्राब्दी की आर्थिक और तकनीकी चुनौतियों का सामना करने के लिए खुद तैयार किया है ।

कारखाना - एक नज़र में

 1
कर्मचारी
 
 a.
 राजपत्रित
49
 b.
 अराजपत्रित (वैगन शॉप सहित)
 8900
 2
कारखाना का क्षेत्रफल
 150.73 एकड़
 3
 कारखाना का आवृत क्षेत्रफल
 2.8 लाख वर्ग मीटर
 4
कारखाना के भीतर कुल रेल ट्रैक की लंबाई
 91.63 किलोमीटर
 5
 कारखाना के भीतर कुल सड़कों की लंबाई
 22 किलोमीटर
 6
 स्थापित मशीन और संयंत्र
 1207 (वैगन शॉप सहित)
 7
बिजली की औसत आवश्यकता
 4.71 मेगा वाट घंटे प्रति माह
 8
 अतिरिक्त बिजली की उपलब्धता
 3 संख्या 1750 किलोवाट प्रत्येक के डीजी सेट.
 9
पानी की खपत
 4.2 लाखों गैलन प्रति दिन 
 10
 आवास प्रदान  के साथ कुल स्टाफ
 4810
 11
 बजट
रुपये 591.63 करोड़ (लगभग) (Debit)

रुपये 584.68 करोड़ (लगभग) (Credit)

गुणवत्ता नीति

यात्री डिब्बों,  ई.एम.यू मोटर और ट्रेलर डिब्बों,  वैगन,  डीजल और इलेक्ट्रिक इंजनों और उनके पूजोंर् की आवधिक मरम्मत में हमारे ग्राहक की गुणवत्ता और डिलीवरी आवश्यकताओं से भी अधिक  अच्छा कायर् करना  तथा हमारे गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली में सतत् उन्ऩयन करना

गुणवत्ता उद्देश्य

  • अपने ग्राहकों की संतुष्टि को सुनिश्चित करना, जो मरम्मत के बाद ओवरहाल विश्वसनीयता में सुधार के माध्यम से परिलक्षित हो ।
  • उपकरणों का निरीक्षण, प्रक्रिया नियंत्रण और कर्मचारियों की क्षमता के सतत् उन्ऩयन से तैयार सामग्री के अस्वीकरण में कमी ।
  • ग्राहकों की पूवर् वणिर्त आवश्यकताओं  के अनुसार  उत्पाद में सतत् उन्ऩयन एवं नई   पद्धति द्वारा ग्राहकों को प्रसन्न करना ।
  • खड़गपुर कारखाने के प्रत्येक इकाई के लिए स्थापित गुणवत्ता लक्ष्य को प्राप्त करना ।

खड़गपुर कारखाने के इतिहास की मुख्य झलकियाँ

  • सन 1898 में खड़गपुर कारखाना स्थापित किया गया।
  • सन 1903 में वाष्प इंजनों की आवधिक मरम्मत आरंभ की गई।
  • सन 1917 में मालडिब्बा मरम्मत का कार्य शुरु किया गया।
  • सन 1963 में पहले डीजल लोको की आवधिक मरम्मत का
    कार्य शुरु किया गया।
  • सन 1985 में विद्युत लोको की आवधिक मरम्मत शुरु की गई।
  • सन 2004 में खड़गपुर कारखाने को आई0एस0ओ0 9001:2000 प्रमाण-पत्र से नवाजा गया ।
  • सन 2008:  आईएसओ 9001 -2000 के पुन: प्रमाणीकरण

पत्राचार का पता

मुख्य कार्य प्रबन्धक
खड़गपुर कारखाना, द0पू0रेलवे
खड़गपुर-721301,
जिला-मिदनापुर (पश्चिम)- 721301


 




Source : South Eastern Railway CMS Team Last Reviewed on: 18-04-2019  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.