Indian Railway main logo
खोज :
Increase Font size Normal Font Decrease Font size
   View Content in English
National Emblem of India

Home

Citizen Charter

मंडल

विभाग

निविदाएँ

समाचार एवं अद्यतन

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS


पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केंद्र

परिचय

पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केंद्र, खड़गपुर जो पांच साल शिक्षुता के माध्यम से रेलवे के यांत्रिक पर्यवेक्षकों के निर्माण के विचार के साथ वर्ष1962  में  "सिस्टम तकनीकी स्कूल" के रूप में स्थापित किया गया था, की लंबी और गौरवशाली अतीत है और इस प्रशिक्षण केन्द्र को लोको रनिंग स्टाफ की  प्रशिक्षण और परीक्षण और उनकी कुशल ड्राइविंग कौशल के आधार पर चालकों के वर्गीकरण का काम  सौंपा गया था. वर्ष 1992 में, "सिस्टम तकनीकी स्कूल" को "पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केंद्र" के रूप में  नाम दिया गया .

रेलवे परिवहन सेवा के परिदृश्य समय के साथ बदल गया है और इस बदले हुए परिदृश्य के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए  विभिन्न आवश्यकता आधारित प्रशिक्षण कार्यक्रमों अर्थात आपदा प्रबंधन, कम्प्यूटर जागरूकता (सूचना प्रौद्योगिकी), प्रशिक्षकों का प्रशिक्षण, सुपरवाइजरी विकास कार्यक्रम, आदि बनाया गया और लागू किया गया है.

एस टी सी /खड़गपुर लगभग 500 ट्रेनी क्षमता के साथ भारतीय रेल की प्रमुख प्रशिक्षण संस्थानों में से एक है (यानी हर पल 150 रखरखाव पर्यवेक्षक और 250 रनिंग स्टाफ़ इस प्रशिक्षण केंद्र में उपलब्ध हैं   और यह  एक लाख से अधिक ट्रेनी दिन प्रति वर्ष कमाता है ). इसमें कक्षा कमरे, तकनीकी माडल कमरे, हॉस्टल , प्रयोगशालाओं, जिम हॉल, ऑडिटोरियम, रेल ड्राइविंग सिम्युलेटर, कैफेटेरिया, मनोरंजन क्लब, साथ लगा हुआ डीजल लोको शेड, एकीकृत कार्यशाला (एशिया में सबसे बड़ा), इंटरनेटकनेक्टिविटी के साथ कंप्यूटर लैब आदि सामूहिक रूप से   दक्षिण पूर्व रेलवे, पूर्व तटीय रेलवे और दक्षिण पूर्वी मध्य रेलवे के रेलवे कर्मचारी के दो लाख से ऊपर की प्रशिक्षण आवश्यकताओं की पूर्ति करता है.

इसके अलावा, पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केन्द्र, खड़गपुर, भारतीय रेल की एकमात्र ऐसी संस्था है जिसने अपने यहां 'मास्टर ट्रेनर (एमटी) खुद विकसित की है जिसे सभी प्रशिक्षण से संबंधित मामलों में, रेल मंत्रालय सहित भारत सरकार के सभी मंत्रालयों, प्रभावी प्रशिक्षण वितरण, उचित प्रशिक्षण के तरीके (52 सामान्यतः अपनाया प्रशिक्षण विधियों), सत्यापन / मूल्यांकन तौर तरीकों के चयन के समग्र कार्य के बाद देखने के लिए, प्रशिक्षण विश्लेषण, प्रशिक्षण, संकाय विकास की डिजाइन की जरूरत कार्यक्रम (एफडीपी), बनाने और उपयुक्त वातावरण सीखने, भागीदारी सीखने, एंड्रागॉगी, प्रबंधन खेल को बनाए रखने आदि देश में सर्वोच्च शासी निकाय कार्मिक एवं प्रशिक्षण (डीओपीटी) विभाग, भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है । लगभग 14 लाख कर्मचारियों के बीच भारतीय रेलवे का मास्टर ट्रेनर पहला और केवल एसटीसी, खड़गपुर द्वारा विकसित किया गया है जो भारतीय रेल के अन्य सभी प्रशिक्षण केंद्रों से खुद अपना अलग पहचान बनाता है ।

तकनीकी फिल्म शो का आयोजन, सेमिनार, आपदा जैसे विषयों पर प्रस्तुतियाँ आदि अर्जित कुल प्रशिक्षु दिन और बुनियादी सुविधा के अनुसार, "पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केन्द्र, खड़गपुर" भारतीय रेल की सबसे बड़ी पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केन्द्र के रूप में उभरी है ।


दृष्टि और मिशन

पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केंद्र का मिशन बयान है :
"पर्यवेक्षकों एवं रनिंग कर्मचारियों के ज्ञान और कौशल का विकास करना और व्यवस्थित प्रशिक्षण द्वारा व्यवहार परिवर्तन को प्रभावी करना ताकि काम में उत्कृष्टता प्राप्त कर भारतीय रेलवे के प्रदर्शन में लगातार सुधार हो । "

उपरोक्त मिशन को पूरा करने के लिए, पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केंद्र के निम्नलिखित उद्देश्य है:

  • नए भर्ती और पदोन्नत पर्यवेक्षकों को गुणात्मक और प्रभावी सैद्धांतिक और फील्ड प्रशिक्षण देकर उनके व्यावसायिक दक्षता का विकास करना
  • नवीनतम रखरखाव अभ्यास के क्षेत्र में कैरिज वैगन पर्यवेक्षकों के तकनीकी ज्ञान को अद्यतन कर हमारे सम्मानीय ग्राहकों की पूरी संतुष्टि के लिए सुरक्षित रेल सेवाएं उपलब्ध कराना .
  • रनिंग स्टाफ की तकनीकी ज्ञान और कौशल को ताज़ा और अद्यतन कर सुरक्षित और समयनिष्ठ रेल सेवाएं उपलब्ध कराना. 
  • बदलते रुझान के साथ पर्यवेक्षकों को उनकी तकनीकी और पर्यवेक्षी कौशल में सुधार करने के लिए डिजाइन कर आवश्यकता आधारित प्रशिक्षण देना. 
  • संगठनात्मक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए पर्यवेक्षकों को प्रभावी नेताओं में  ढालना . 
  • कार्यालय प्रक्रिया और कार्यालय रखरखाव में ज्ञान और अनुसचिवीय कर्मचारी के कौशल को ताज़ा और अद्यतन करना. 
  • प्रभावी प्रशिक्षक बनाने के लिए भारतीय रेलवे के सभी प्रशिक्षण केंद्रों के प्रशिक्षकों को प्रशिक्षित करना.


बुनियादी विवरण 

 संस्था का नाम पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केन्द्र, खड़गपुर
 प्रधानाचार्य का नाम श्री टी. रामास्वामी
 प्रशिक्षण संस्था का स्थानखड़गपुर रेलवे स्टेशन से 2.75 किमी (यानी स्टेशन से  0.75 किलोमीटर दक्षिण दिशा की ओर फिर 2 किमी  पश्चिम की ओर ) 
 पताप्रधानाचार्य,
पर्यवेक्षक प्रशिक्षण केंद्र,
6 एवेन्यू, खड़गपुर,
जिला - पश्चिम मिदनापुर,
पश्चिम बंगाल , पिन कोड - 721301
 टेलीफोन नंबर  रेलवे - 62656 | बीएसएनएल - 03222-223288 | फैक्स - 03222-256618
 ईमेल आईडी marcusmurmu@gmail.com







Source : South Eastern Railway CMS Team Last Reviewed on: 24-05-2017  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.